ब्रेकिंग BJP के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बैजयंत पांडा का संगीन आरोप, कहा- ISI से जुड़े हैं बॉलीवुड के कुछ लोग                  
विज्ञापन                  गब्बर सिंह मालिक पशु पेंट बिचपुरी ब्लॉक राया                  गुड्डू चौधरी प्रधान प्रतिनिधि ग्राम आयरा खेड़ा ब्लॉक राया मथुरा                  लक्ष्मण सिंह प्रधान घड़ी परसा की ओर से समस्त जनपद वासियों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं                  रमेश कुमार गुप्ता प्रभारी बांदा राकेश कुशवाह झांसी                  संतोष मिश्र पंकज सिंह बाबू खान रमेश कुमार राजू खान बहराइच                  वर्षा सिंह लखीमपुर दानिश अली प्रभारी कन्नौज                  फराज खान लखीमपुर अभिषेक गुप्ता निघासन लखीमपुर                  तबस्सुम अंसारी सीतापुर आशीष गौड़ सीतापुर                  नसीम खान प्रभारी उत्तर प्रदेश बहराइच                  shah satnam ji engineering works new delhi all kinds shutter roiling ptti macine tarun mishra mo 9811935781                  
शराब माफियाओं के साम्राज्य को जड़ से खत्म करने के लिये आबकारी विभाग द्वारा बनाया गया एक विशेष मास्टर प्लान
Lucknow,(Uttar Pradesh)(07-Jun-2021)

लखनऊ. बीते दिनों अलीगढ़ में सामने आये जहरीली शराब कांड में अब तक 40 लोगों की मौत के साथ 86 संदिग्धों की मौत से पूरे प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है. जिसके बाद अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर पूरे उत्तर प्रदेश में शराब माफियाओं के साम्राज्य को जड़ से खत्म करने के लिये आबकारी विभाग द्वारा एक विशेष मास्टर प्लान बनाया गया है. जिसके तहत प्रदेश में पिछले 15 वर्षों में दर्ज किये गये शराब से जुड़े सभी बड़े मामलों की जांच दोबारा कराकर पुलिस की मिलीभगत से बचे दोषी शराब माफियाओ के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर उन्हें कड़ी सजा दिलाने का निर्देश जारी कर दिया गया है. साथ ही अब बड़े स्तर पर अवैध शराब मिलने पर संबंधित क्षेत्र के आबकारी अधिकारी और थाने की जवाबदेही के साथ शराब माफियाओ को कड़ी सजा दिलाने के लिये डीएम, एसपी और कमिश्नर के साथ ही रेंज के डीआईजी और आईजी की भी जिम्मेदारी तय कर दी गई है. उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव आबकारी संजय आर भूसरेड्डी के मुताबिक "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश के सभी डीएम व एसपी को बीते 15 वर्षों में प्रदेश में दर्ज कराये गये अवैध शराब के सभी बड़े मामले की दोबारा सघन जांच करने के निर्देश दिये गये है. जिसमें पुलिस की मिलीभगत से विवेचना में अपना नाम बाहर करवाने वाले शराब माफियाओं के नाम जांच में दोबारा शामिल करके दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर उन्हें जेल भेजने के साथ बेहतर पैरवी के जरिये सजा भी दिलाने के निर्देश दिये गये है."इनकी तय हुई जिम्मेदारी संजय आर भूसरेड्डी आगे बताते है कि ‘सीएम योगी के निर्देश पर पिछले 15 वर्षों में पकड़ी गई किसी भी प्रकार की स्पिरिट या जहरीली शराब से जुड़े मामलों की समीक्षा जहां खुद सबंधित जिले के डीएम, एसपी, वरिष्ठ आबकारी अधिकारी के साथ DGC क्रिमिनल करेंगे. तो वहीं हर जिले के 10 बड़े मामलों की समीक्षा संबंधित जिले के मंडलायुक्त और DIG/IG करेंगे. इतना ही नही अब डीएम के साथ मंडलायुक्त को भी हर माह की 15 तारीख तक अवैध शराब से जुड़े लोगों को सजा दिलाने के लिये की गई कार्रवाई की समीक्षा कर उसकी रिपोर्ट अपर मुख्य सचिव आबकारी को भी भेजनी होगी.’ अवैध शराब मिलने पर ये होगी कार्रवाई भूसरेड्डी के मुताबिक ‘सीएम योगी के निर्देश पर अब शराब माफियाओं की कमर तोड़ने के लिये किसी भी शराब की दुकान में अवैध शराब मिलने पर न सिर्फ उसका लाइसेंस निरस्त कर उसे पूरे प्रदेश में ब्लैक लिस्ट कर दिया जाय़ेगा, बल्कि ऐसा करने वालों के खिलाफ NSA और गैंगेस्टर के तहत कार्रवाई करके उनकी संपत्ति जब्त की जाएगी




Comments:







Visitor No. :

Visitor Count


प्राइम समाचार
बडी खबरे
खबरे अब तक
साक्षात्कार
स्पोर्टस
क्राइम
ब्लॉग
बॉलीवुड

Copyright © Samachar Prime 24 @ 2014-2021